hindi shabdkosh

hindi shabdkosh

hindi to hindi shabdkosh pdf,hindi shabdkosh kram,hindi shabdkosh book, hindi shabdkosh dictionary,hindi to hindi shabdkosh pdf free download,hindi shabdkosh download,hindi bhasha shabdkosh, shabdkosh meaning

नमस्कार !दोस्तों आज मैं सभी ऑनलाइन पाठकों के लिए हिंदी शब्दकोश  लाया  हु क्योंकि   भारतं में लाखो ऐसे युवक है जो हिंदी के शब्द ज्ञान के आभाव में सरकारी नौकरी हासिल  कर पाते ! और ऐसे लाखो युवक युवतियाँ  विभिन्न कारणों से से पढाई  कर पाते है  मेरे दिमाग मे   आया की क्यों ना मैं ऑनलाइन हिंदी शब्द कोश को  पाठको को दूँ  जो इंटरनेट को उपयोग करते हैं केवल फेसबुक ,ट्विटर व्हाट्सएप्प आदि के लिए  मेने ऐसे लोगों के लिए  onlyhindigk.blogspot.com   नया ब्लॉग शुरू कर दिया जिसमे थोड़ा -थोड़ा ज्ञान देने की हर रोज मेरी कोशिश  रहेगी ! आप  मुझसे फेसबुक पर भी मिल सकते है  क्योकि हमारी राष्ट्र भाषा दुनिया में अपनी पहचान बना रही है तो दूसरी तरफ अपने ही घर में अपना अस्तित्व खो रही है इसलिए में आप सभी पाठको से निवेदन करूंगा  कि वे इसे पहचान दिलाने में मेरा सहयोग दे अब ज्यादा समय नष्ट न करते हुए मुख्य बिंदु पर आते है !
hindi to hindi shabdkosh pdf
जैसा की हम जानते है की हिंदी प्राच्य भाषा संस्कृत से जन्मी है फिर भी उससे कई रूपों में  भिन्न है जैसे स्वर,  
व्यञ्जन ,  उच्चारण स्थान  आदि की दृष्टि से भी भिन्न है 
मनुष्य संसार के अन्य प्रणियों से इसलिए भिन्न है क्योकि उसके पास भाषा अनुपम खजाना है मनुस्य अपने भावों विचारों को शब्दों के द्वारा व्यक्त करता है अब वाही शब्द हम गलत बोले तो अर्थ का भी अनर्थ हो जाता है वैसे भी आप सभी विद्वान जन जानते ही है की हिंदी का  शब्द कोष दुनिया  की अन्य भाषाओं से विशाल है कई व्याकरणाचार्यों  के मुताबिक 7 लाख शब्दों से भी ज्यादा है  जबकि वहीँ अंग्रेजी का शब्द कोष 3. 5  लाख  के लगभग माना  गया है  फिर भी हमारी राष्ट्रभाषा हिंदी को अंतर्राष्ट्रीय भाषा का दर्जा नहीं मिल प रहा है क्यों जरा इसी विचार के साथ  रात को सोते समय सोचिये आपकी समझ में आ जायेगा ! हिंदी एक विशाल भाषा है जिसको विभिन्न भारत की  अनेक छोटी -छोटी बोलियों उपभाषाओं विदेशी भाषाओं तत्सम तद्भव  समास संधि उपसर्ग प्रत्य  आदि ने इसे विशाल और अक्षुण  रखा है  !आज मै  उसी शब्द सागर से कुछ शब्दों को तुम्हे बताने का  प्रयास करूंगा जिससे आप भी उससे लाभान्वित हो सके !
hindi shabdkosh kram
 तो  शुरुआत  करते है हिंदी  वर्णमाला के प्रथम वर्ण अ  से  ज्ञ  तक 
अ - हिंदी [देवनागरी ],संस्कृत  वर्णमाला का पहला अक्षर है ,इसका उच्चारण स्थान कण्ठ है /इसके कई अर्थ      
       है ब्रह्मा ,सृष्टि ,अमृत ,मेघ ,ब्राह्मण ,कीर्ति ,कंठ,ललाट /
अंक - [सं.,पु,]चिन्ह ,निशान ,छाप ,संख्या [२४ ,५६ १०० आदि ]अदद ,गोद ,बगल ,मुद्रा पर अंकित धार्मिक 
      चिन्ह  किसी नाटक या महाकाव्य का खण्ड  या सर्ग /
अंकक -[सं ,पु ,वि ]इसका स्त्रीलिंग अंकिका हे हिसाब,अंकित करने वाला , ठप्पा या छाप लगने वाला यन्त्र /
अंकगत -[सं. वि.]गोद में समाया  हुआ ,भूमि में दफ़न किया गया शव ,बोया गया बीज /
अंकति -[सं.पु. ]अग्नि ,ब्रह्मा ,पवन भूगर्भ की अग्नि /
अंकधारी - शङ्ख ,चक्र ,त्रिशूल। कमल।,गदा आदि धार्मिक चिन्ह धारण  वाला /
अंकपत्र -[सं. पु. ] परीक्षार्थी के अंकों को   दर्शाने वाला  कागज ,मुद्रांकित कागज ,टिकट 
 अंकवारी -[हि. स्त्री. ]गोद ,अंक /
अंकशायिनी -[सं. स्त्री. ]साथ[बगल ] में  सोने वाली औरत /
अंकशायी -किसी स्त्री की गोद   वाला  बालक अथवा पुरुष /
अंक्य -ऐसा अपराधी जो दागने योग्य हो ,मृदंग ,पखावज नामक वाद्ययंत्र /
अँखिया -[ही. स्त्री ]आँख ,नक्काशी के काम आने वाली छोटो सी कलम /
अंग -[सं. पु.]शरीर के भाग ,आश्रित विषय अथवा वस्तु ,मन ,

आगे फिर लिखूंगा निरन्तर 

Comments