दृश् धातु के रूप
Type Here to Get Search Results !

दृश् धातु के रूप

दृश् धातु के रूप


दृश्  का अर्थ देखना होता होता है, संस्कृत में प्राय: सभी शब्दों को धातुओं के रूप में खंडन किया जाता है , धातु का अर्थ ‘क्रिया; का मूल रूप होता है , जैसे – खाद्, लिख्, गम्, नृत्, पठ्, पा, इत्यादि, इसी प्रकार की धातुओं के नत में कृत्(कृदन्त) प्रत्यय जोड़कर जो रूप बनाये जाते हैं उन्हें धातु रूप कहते हैं

Drash Dhatu Roop In Sanskrit
Drash Dhatu Roop In Sanskrit


दृश् या पश्य् धातु के रूप यहाँ निम्न लिखित सारणी में दिए जा रहे हैं, हमें आधा है की ये रूप आपके लिए उपयोगी सिद्ध होंगे.

पश्य=देखना , दृश= देखना

पश्य /दृश को अंग्रेजी में किसी तरफ देखना Seeing होता है.

दृश् धातु लट् लकार (वर्तमान काल) के रूप

Drish dhatu Lat lakar ke roop

पुरुष

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथम पुरुष

पश्यति

पश्यतः

पश्यन्ति

मध्यम पुरुष

पश्यसि

पश्यथः

पश्यथ

उत्तम पुरुष

पश्यामि

पश्यावः

पश्यामः

दृश् धातु लङ् लकार (अनद्यतन भूतकाल) के रूप

पुरुष

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथम पुरुष

अपश्यत्

अपश्यताम्

 अपश्यन्

मध्यम पुरुष

अपश्यः

अपश्यतम्

अपश्यत

उत्तम पुरुष

अपश्यम्

अपश्याव

अपश्याम

दृश् धातु के रूप लृट् लकार (भविष्यत्काल)

पुरुष

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथम पुरुष

द्रक्ष्यति

द्रक्ष्यतः

द्रक्ष्यन्ति

मध्यम पुरुष

द्रक्ष्यसि

द्रक्ष्यथः

द्रक्ष्यथ

उत्तम पुरुष

द्रक्ष्यामि

द्रक्ष्याव:

द्रक्ष्याम:

पश्य या दृश धातु के रूप लोट् लकार (आज्ञार्थक, आदेशवाचक)

पुरुष

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथम पुरुष

पश्यतु, पश्यतात्

पश्यताम्

पश्यन्तु

मध्यम पुरुष

पश्य, पश्यतात्

पश्यतम्

पश्यत

उत्तम पुरुष

पश्यानि

पश्याव

पश्याम

पश्य, दृश धातु के रूप विधिलिङ् लकार (अनुज्ञावाचक, चाहिए के अर्थ में)

पुरुष

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथम पुरुष

 पश्येत्

पश्येताम्

पश्येयुः

मध्यम पुरुष

 पश्येः

पश्येतम्

 पश्येत

उत्तम पुरुष

पश्येयम्

पश्येव

 पश्येम



Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Ads Area