अस्मद् के रूप संस्कृत में
Type Here to Get Search Results !

अस्मद् के रूप संस्कृत में

अस्मद् शब्द रूप संस्कृत में, अस्मद् शब्द रूप, अस्मद्(मैं) सर्वनाम के रूप संस्कृत में, asmad shabd ke roop, अस्मद्
अस्मद् शब्द रूप

अस्मद्(मैं) सर्वनाम के रूप संस्कृत में

अस्मद् (मैं) एवं युष्मद् (तुम) के अतिरिक्त शेष सभी सर्वनामों के रूप तीनों लिंगों में भिन्न-भिन्न होते हैं, तथा सर्वनाम शव्दों रूप सम्बोधन में नहीं चलते हैं, अर्थात् इनके रूप केवल सात विभक्तियों में ही चलते हैं.

अस्मद् शब्द रूप

विभक्ति

एकवचन

द्विवचन

बहुवचन

प्रथमा

अहम्

आवाम्

वयम्

द्वितीया

माम्, मा

आवाम्

अस्मान्, न:

तृतीया

मया

आवाभ्याम्

अस्माभिः

चतुर्थी

मह्यम्, मे

आवाभ्याम्

अस्मभ्यम्

पञ्चमी

मत्

आवाभ्याम्

अस्मत्

षष्ठी

मम्, मे

आवयो:

अस्माकम्

सप्तमी

मयि

आवयो:

अस्मासु

अस्मद् शब्द रूप संस्कृत में

asmad shabd ke roop 

ये भी पढ़ें-

लक्ष्मी शब्द के रूप

हरि शब्द के रूप  

आत्मा शब्द के पुल्लिंग रूप 

सूर्य शब्द के रूप

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Ads Area